Blog

किसान पुत्र की सरकार में  आन्दोलनकारी दो किसानों की पुलिस फायरिंग से मौत शर्मंनाक – 

       भोपाल | ६ जून| कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को प्रदेश के मंदसौर में पुलिस की गोली लगने से आन्दोलनकारी दो किसानों की मौत शिवराज सरकार का कायराना कृत्य बताया है |

        आज  यहाँ जारी अपने बयान में सांसद सिंधिया ने कहा कि शिवराज सरकार द्वारा छले गये किसानों के आन्दोलन को यदि सरकार पुलिस की गोली के दम पर निपटना चाहती है तो इस से शर्मनाक कुछ और नहीं हो सकता | उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री किसान पुत्र होने का दम्भ भरते है और उनके ही राज में यदि किसानों को पुलिस की गोली खाकर मृत्य के मुंह में जाना पड़े तो इससे बुरा और क्या हो सकता है |

    सिंधिया ने  कि मुख्यमंत्री असल में प्रदेश के अन्न्दाता के दर्द और तकलीफ को कभी भी नहीं समझ पाए |इसलिए दो दिन पूर्व  अपने दल से जुड़े एक संगठन के लोगों का नाम के प्रदेश में किसान आन्दोलन के समापन की झूठी घोषणाभी  करा दी जब कि आन्दोलन तो आज भी जारी है | यहाँ तक कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने तो किसानों द्वारा मुख्यमंत्री के सम्मान की भी घोषणा कर दी |

सिंधिया ने कहा कि शिवराज सरकार किसानों की समस्याओं को हल करने के स्थान पर पुलिस फायरिंग का उपयोग कर रही है ,जो इस सरकार की अन्नदाता के प्रति विपरीत सोच का  प्रमाण है | सिंधिया ने कहा कि असली किसान प्रतिनिधियों को बुलाकर बातचीत करने और उनकी मांगों पर विचार करने  के स्थान पर यदि सरकार पुलिस की गोलियों का उपयोग करेगी तो  किसान कहाँ अपनी फरियाद करेगा ? प्रदेश के गृह मंत्री भी कह रहे है कि अब किसान आन्दोलन से सख्ती से निपटा जायेगा | जो सरकार की मंशा को साफ करता है कि अब सरकार लाठी – गोली का सहारा लेगी |

उन्होंने कहा कि वे मध्य प्रदेश में किसानों  पर हुई इस पुलिस फायरिंग की कड़ी निंदा करते है और मांग करते है कि इस की न्यायिक जाँच हो और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो | ताकि आन्दोनाकारियों को न्याय मिल सके |

सादर प्रकाशनार्थ 
*अधिमान्य पत्रकार महासंघ*

         *IT सेल प्रभारी* 

    *सुशील कुमार सिंह*
Mo. 7047829205, 8009105601

Advertisements